Digital Bilal

मेरी Digital Marketing Journey – A short story

Digital Marketing, आजकल लोग इसके बारे में काफी चर्चा कर रहे हैँ, काफी लोग इससे पैसा बना/बनवा रहे हैँ.

ये बात है आज से लगभग 4 साल पहले की जब Digital Marketing, इंटरनेट से पैसा कमाने का इतना craze नहीं था, उस समय मेरा एक ख्वाब था की कुछ ऐसा करना है जिससे में घर या दुनिया के किसी भी कोने में मौजूद रहूं तो में वहां से भी पैसा कमा सकूँ.

उस समय मुझे अच्छे से मालूम था की इंटरनेट ही वो एक ज़रिया है जिससे ये सपना संपन्न हो सकता है, लेकिन मुझे ये clearly नहीं पता था की कैसे शुरू करूँ.

मैंने यूट्यूब को खंगालना शुरू किया काफी articles भी पढ़े उनसे सीख कर लिखने की भी कोशिश करी. काफी research के बाद एक FREE hosting सर्विस ली domain खरीदा और articles लिखने लगा, एक automation भी अपनी साइट में लगा दिया, और अगले दिन सुबह उठकर देखा तो मेरी साइट बंद हो चुकी थी, लिखा था- “your bandwidth is exceeded the limit”

में काफी दुखी हुआ क्यूंकि ये वो समय भी था जब मेरे आसपास का हर एक शख्श इंटरनेट से पैसे कमाने को एक फ़र्ज़ी चीज मानता था, दूसरों से कोई ख़ास फर्क भी नहीं पड़ता था.

लेकिन जब खुद के माँ बाप भी इंटरनेट को टाइम waste ही माने तो ज़्यादा दुख होता था, इस सब से मुझे लगने लगा था की यार कहीं तू सचमे तो time waste नहीं कर रहा है, हो सकता सभी सही हों और तू गलत, लेकिन इन सारे विचारों के बाद भी में खुद को समझा लेता था की तू कोशिश कर, हो जाएगा.

खैर… मैंने उस bandwidth वाले error
को पढ़ा और फिर कुछ पैसे एक hosting को खरीदने में लगा दिए,

मेरी website एक साल चली और में उसपर गूगल adsense के लिए apply करते – करते थक चुका था, इस एक साल में मेरे page के followers ज़रूर बढे, लेकिन ना तो adsense approval मिला और ना ही website पर अच्छा ट्रैफिक, फिर एक साल बाद domain को renew कराने का समय आया तो domain लगभग 35 से 40 गुना महंगा हो चूका था. .press का जो था.

मैंने नहीं लिया और दूसरा .कॉम domain purchase किया उसपर कुछ articles लिखें/लिखवाये इस समय एक यूट्यूब चैनल भी बनाया, google adsense का approval भी लिया… लेकिन सिर्फ $4.9 डॉलर से ऊपर बात बढ़ नहीं पायी.

इस समय घरवालों की तरफ से भी अब time waste को छोड़ कर कुछ serious करने का pressure आने लगा… तो में फिरसे दिमाग दोड़ाने लगा और एक ज़बरदस्त idea आया.

उस idea पर मैंने दिमाग़ लगाया, किसी developer को hire करने के पैसे नहीं थे तो खुद से ही visual studio पर हाथ पैर मारे और तकरीबन 2 महीने में मेहनत रंग ले आयी,

Finally app तैयार था google play स्टोर पर जाने के लिए.

एक महीना और लगा और फिर google पर app दिखने लगा और कुछ लोग डाउनलोड भी करने लगे, मुझे लगा था अब सबसे बड़ा चैलेंज tech ही रहेगा क्यूंकि लोगों के negative reviews आने लगे थे की app स्लो है.

लेकिन उससे भी बड़ी समस्या यह थी की जो खुदको समाजसेवक बोलते थे और अपने समाज के लिए अच्छा करना चाहते थे उन लोगों के कार्य सिर्फ whatsap groups और facebook stories तक ही सीमित थे, मुझे भरोसा था की मैंने अपना काम कर दिया है एक ऐसा app बना कर जिससे वाक़यी में काफी बेहतर चीज़ें की जा सकती हैँ,

लेकिन अफ़सोस मुझे इस हकीकत से रूबरू होने में वक़्त लगा, और मैंने कई लोगों के चेहरे से नक़ाब हटते देखा, लेकिन ऐसा नहीं था की मेरा इस app को डिज़ाइन करना एक time waste था, मेरे पास एक interview के लिए call aayi, में गया, और interviewer ने सीधा एक्सपीरियंस पूछा, तो मेने बता दिया और वो काफी impress हुए, उन्होंने कहा – हमें ऐसे ही किसी शख्श की तलाश थी. मैंने काम करना शुरू किया, shopify पर कई सारी websites बनायीं जिनमे uk, us और switzerland जैसे देश भी शामिल थे, अब जेब में पैसे तो आने लगे थे तो सब सही था लेकिन मेरा वो देखा हुआ ख्वाब अभी भी अधूरा था, कुछ वक़्त के बाद मेंने ये जॉब छोड़ दी और 2-3 companies में काम किया.

कुछ वक़्त पहले जब में अपनी पुरानी जॉब छोड़ चुका था और अपना काम जस्ट शुरू ही किया था, Alhamdulillah मुझे clients भी मिलने शुरू हो गए थे उसके बाद मुझे एक और ऑफर आया जिसमे हफ्ते में 2 से 3 दिंन ऑफिस जाना और बाकी काम चाहे में देश के किसी भी कोने में बैठकर करूँ + मेरे अपने काम में भी कोई रुकावट नहीं… मैंने offer accept कर लिया

अब लगने लगा है की पूरी तरह से तो नहीं, लेकिन हाँ जो में चाहता था वो अब हो रहा है… वो कहते हैँ जब एक सपना पूरा होता है तो हज़ार और पैदा होते हैँ, अल्लाह का शुक्र है आज से 4 साल पहले में जहाँ था आज उससे बेहतर जगह पर हूं.

Struggle बहोत ज़रूरी है, बहोत लोगों को आपका struggle, struggle नहीं लगता जब तक आप रिजल्ट नहीं ला देते.

Keep working hard to achieve your Dreams.

Comments